कांग्रेस से ज्यादा Hanuman Beniwal ने निभाई विपक्ष की भूमिका

108
नागौर सीट पर पिछले पांच साल के भाजपा शासन के दौरान विपक्ष में कांग्रेस से अधिक सक्रियता निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल द्वारा दिखाई गई है.

लोकसभा चुनावों का बिगुल बज चुका है. पिछली दफा नागौर सीट पर भाजपा ने अपना परचम लहरायाऔर जब अब चुनाव वापस आ गए है तो कांग्रेस, भाजपा पर कई मुद्दों को लेकर धावा बोल रही है,

लेकिन पिछले पांच साल के भाजपा शासन के दौरान जिले में कांग्रेस की तरफ से कोई बड़ा आंदोलन नहीं किया गया. इन सभी के बीच बेनीवाल एक मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाते नजर आए.नोटबंदी, जीएसटी जैसे देशव्यापी मुद्दों के साथ ही कुछ स्थानीय मुद्दे ऐसे थे. जिनसे जनता परेशान रही. मसलन किसानों को फसल खराब होने का मुआवजा,

कर्जमाफी, युवाओं को रोजगार, हाइवे पर टोल वसूली का विवाद, नागौर के पुराने अस्पताल भवन में सुविधाओं का मुद्दा और मकराना इलाके के उपभोक्ताओं को डिस्कॉम द्वारा 20 हजार से एक लाख रुपए के बकाया बिल जारी करना, इन सभी मामलों में कांग्रेस के पास अवसर था कि वह केंद्र और प्रदेश में सत्ता के शीर्ष पर बैठी भाजपा को घेर सके. लेकिन अधिकतर मुद्दों को लेकर कांग्रेस बड़ा आंदोलन करने में सफल नहीं हो पाई.


यदि कांग्रेस ने कही कोई बड़ा आंदोलन शुरू भी किया तो वह इस दौरान युवा कांग्रेस और एनएसयूआई के भरोसे ही बैठी रही. बिजली के बिल ज्यादा आने की समस्या पर कांग्रेस अध्यक्ष जाकिर हुसैन ने पुरजोर आवाज उठाई लेकिन यह आंदोलन भी मकराना के दायरे तक ही सीमित रह गया निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल की बात की जाए तो उन्होंने इस दौरान मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाई. बेनीवाल ने सड़क से विधानसभा तक किसानों, युवाओं और बेरोजगारों के हितों की बात की. किसानों हित के मुद्दों पर अखिल भारतीय किसान सभा ने भी बड़े स्तर पर प्रयास किए. प्रदेश के कई स्थानों पर बेनीवाल द्वारा हुंकार रैलियों का आयोजन भी किया गया.


जयपुर में हुई रैली में ही उन्होंने राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी का गठन भी किया.नागौर के यह मुद्दे जिनका आज तक नहीं निकला समाधान-नागौरी नस्ल के तीन साल तक के बछड़ों की बिक्री पर लगी रोक हटाने की मांग लम्बे समय से की जा रही है. इस बीच खरनाल, रोल और बासनी से आने वाली तांगा दौड़ पर भी पशु क्रूरता के बहाने रोक लगा दी गई. ये दोनों मामले सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचे. लेकिन अभी तक ठोस नतीजे का इंतजार है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.